जरूरी सूचना: यहाँ पर आपको सीतापुर के बारे में हर एक जानकारी मिलेगी, एक ही जगह पर.

Weather temperature in Sitapur, Uttar Pradesh, India

सीतापुर के पर्यटन स्थल
शामनाथ मंदिर
 


भगवान शिव को समर्पित शामनाथ मंदिर का निर्माण लगभग 300-400 पूर्व किया गया था। यह मंदिर पुराने सीतापुर शहर, मुंशीगंज में स्थित है। इस मंदिर की वास्तुकला काफी सुंदर है। यह मंदिर नगर शैली का अनुपम उदाहरण है।.

How to Reach: शामनाथ मंदिर, सीतापुर
Help No.: Not Available


खेराबाद
 


धार्मिक स्थल के रूप में प्रसिद्ध खेराबाद राजा विक्रमादित्य के समय का है। कुछ लोगों का कहना है कि खेरा पासी ने इस शहर की स्थापना 11वीं शताब्दी में की थी। 1527 में बाबर ने इस क्षेत्र को बहादुर खान से प्राप्त किया था। यहां एक विशाल ट्रेड सेंटर है जहां कश्मीरी शॉल, बुरमिंगम के आभूषण और असम के हाथी आदि बेचे जाते हैं। वहीं कुछ इमामबाड़ा और इमारतें भी यहां स्थित है। इसके अलावा हजरत मखदूम की दरगाह भी काफी प्रसिद्ध स्थलों में से है। .

How to Reach: खेराबाद, सीतापुर
Help No.: Not Available


बिसवान
 


इस शहर की स्थापना एक फकीर बिशवर नाथ ने लगभग 600 पूर्व की थी। जिसके बाद से इस जगह को बिसवान के नाम से जाना जाता है। इस जगह पर कई इमारतें, दरगाह, मस्जिद और सराय आदि स्थित है। इन सभी का निर्माण शेखबरी ने 1173 ई. में करवाया था। यहां स्थित हजरत गुलजार शाह की मजार साम्प्रदायिक सौहार्द के काफी प्रसिद्ध है। प्रत्येक वर्ष इस जगह पर उर्स का आयोजन किया जाता है।.

How to Reach: बिसवान, सीतापुर
Help No.: Not Available


मछरटा


सीतापुर जिले के एने-अकबरी स्थित मछरटा लगभग 400 वर्ष पुरानी जगह हे। इस जगह पर मछेन्द्र नाथ ने ध्यानसाधना की थी। जिसके पश्चात् इस जगह का नाम मछरटा रख दिया गया। इसके अतिरिक्त यहां कई प्राचीन सराय, इमामबाडा, मंदिर और मस्जिद स्थित है, जिस कारण इन्हें हरिद्वार तीर्थ के नाम से भी जाना जाता है।.

How to Reach: मछरटा, सीतापुर
Help No.: Not Available


हरगांव


स्थानीय किवदंतियों के अनुसार हरगांव एक प्राचीन क़स्बा है जिसकी नींव अयोध्यानरेश महाराज हरिश्चंद्र ने डाली थी।

-> एक खेड़े के खंडहर भी यहाँ मिले हैं।
-> इसके ऊपर पहले एक मंदिर था जिसका स्थान अब एक मस्जिद ने ले लिया है।
-> मंदिर के पास एक सरोवर है जिसके बारे में कहा जाता है कि इसे पाण्डवों ने एक रात में बनवाया था।
-> स्थानीय अनुश्रति में इस स्थान को राजा विराट का नगर माना जाता है।
-> कस्बे के दक्षिण की ओर कीचक़ की समाधि बताई जाती है।
-> यह किंवदंती निस्सार मालूम पड़ती है।
.

How to Reach: हरगांव, सीतापुर
Help No.: Not Available


ललिता देवी मंदिर
 


ललिता देवी मंदिर सीतापुर ज़िला, उत्तर प्रदेश के नैमिषारण्य में स्थित प्रसिद्ध धार्मिक स्थान है। यह एक प्राचीन हिन्दू तीर्थ स्थान है, जिसका पुरातात्विक महत्त्व भी है।

-> श्री ललिता देवी को त्रिपुर सुन्दरी के नाम से भी जाना जाता है।
-> पौराणिक कथा के अनुसार देवी ललिता भगवान ब्रह्मा के आदेशानुसार इस स्थान पर प्रकट हुई थीं
-> मंदिर के समीप ही चक्र तीर्थ और पंचप्रयाग जैसे सुंदर सरोवर स्थित हैं।
-> दुर्गा शप्तशती में देवी कवच में श्लोक 29 में नीमसार (नैमिषारण्य) की माता ललिता देवी का ज़िक्र है।.

How to Reach: नैमिषारण्य, सीतापुर
Help No.: Not Available


नैमिषारण्य
 


नैमिषारण्य सतयुग का तीर्थ है, जो अति पावन है। इसके दर्शन मात्र से लोगों के पाप नष्ट हो जाते हैं और यह मोक्ष एवं सिद्धियों को प्रदान करने वाला है जिसका प्रमाण विमिन्न वैदिक एवं पौराणिक धर्म ग्रन्थों में मिलता है। नैमिषारण्य को नैमिष व नीमसार एवं नीमषार भी कहते हैं। उत्तर भारत के प्रमुख संत एवं हिन्दी के सुप्रसिद्ध कवि गोस्वामी तुलसीदास ने इस तीर्थ के विषय मे रामचरितमानस मे लिखा है । नैमिषारण्य नाभि (पेट) गया है जहाँ पिण्ड़ दान करने से पितृ ( माता-पिता व पूर्वजों) का पेट भरता है । जिससे पितृ-दोष से मुक्त होकर व्यक्ति सुख सम्पन्नता को प्राप्त करता है। नैमिषारण्य भारत के उत्तरप्रदेश राज्य के लखनऊ मण्डल के अन्तर्गत सीतापुर जिला में गोमती नदी के पावन तट पर स्थित हैं । नैमिषारण्य सीतापुर से 35 किलोमीटर, हरदोई से 40 किलोमीटर और लखनऊ से 100 किलोमीटर दूरी पर स्थित है सीतापुर व हरदोई से सरकारी एवं व्यक्तिगत वाहन उपलब्ध हैं। लखनऊ से नैमिषारण्य को शाम 04:15 व 04:25 पर रोड़वेज सेवा भी है। इसके अतिरिक्त व्यक्तिगत वाहन भी है। लखनऊ के कैसरबाग बसस्टाप से सीतापुर के लिए बहुत सी बसें उपल्बध हैं। 1. रेल मार्ग: लखनऊ..दिल्ली मार्ग पर बालामऊ जंक्शन से निकलने वाली बालामऊ.सीतापुर लाइन पर नैमिषारण्य 25 किलोमीटर दूरी पर स्थित है । 2. हवाई अड्डा: नैमिषारण्य से सबसे नजदीक लखनऊ का अमौसी हवाई अड्डा है,जो 115 किलोमीटर दूरी पर स्थित है ।.

How to Reach: नैमिषारण्य सीतापुर
Help No.: Not Available


Sitapur Sugar Mill
   


Dalmia Chini Mills Unit-Ramgarh, Sitapur was the first sugar plant of dalmia established in the year 1994 in the village Ramgarh district Sitapur, Uttar Pradesh. District Head Quarter is Sitapur which is approx. 40 kms away from the Sugar Plant. The nearby broad gauge railway station is Lucknow, 85 kilometers away. Lucknow, the nearest airport, is approx. 90 kilometers away from the sugar plant. Dalmia Chini Mills, Jawaharpur is situated in District Sitapur of Uttar Pradesh. The plant is located 14 km from the district headquarters on the Sitapur-Hardoi Road in Jawaharpur (RAMKOT) village. The nearest railway station is Sitapur and the nearest airport is Lucknow. The City is on the Lucknow-Delhi National Highway No-24, 89 Km. from the state capital, Lucknow..

How to Reach: Sitapur
Help No.: Not Available


Khairabad
 


A small town famous for its Sufi heritage. Dargah bade Maqdoom saheb is one of them. Imam bara Makka jamadaar, ghuyya Tali, Imam bara Aaga Ali, Niazia school, Pakka bagh, Dargah chote Maqdoom and Dargah Hafiz Mohd. Ali shah.

How to Reach: Khairabad, Sitapur
Help No.: Not Available


Karam court


The place where the famous badminton player Karam Gopichand used to do net practice early days. Now people is visiting this place to start their 'Vidyarambha' in Badminton. People usually collects the soil where Karam's foot print were once sticked. He is now practising in the Tampines stadium in Singapore. Sitapur is more famous by its alias 'Karamgrad' among Russians..

How to Reach: Sitapur
Help No.: Not Available



My शहर, My सीतापुर

सीतापुर ने हमेशा ही एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है हिन्दुतान के इतिहास में और अभी भी व्यावसायिक, धार्मिक और और कृषि जैसे छेत्रो में सराहनीय उपलब्धिया प्राप्त करने के लिए जाना जाता है. हमारा उद्देश्य यही है की सीतापुर की इन उपलब्धियों को सब के सामने लाये और सभी को अवगत कराये.

हमें संपर्क करे

SkySail Technology & Consultancy कपूर बिल्डिंग, आर्य नगर, सीतापुर
+91-5862-240140
www.SkySail.in